बांदा। जिले की कमान संभालने के बाद नए जिला अधिकारी अनुराग पटेल ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। शुक्रवार को अचानक वह लोक निर्माण विभाग खंड-02 पहुंचे और औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कार्यालय में अधिशासी अभियंता सहित कई जेई एई अनुपस्थित पाए गए। इस पर डीएम ने अग्रिम आदेश तक माह सितंबर के वेतन आहरण पर रोक लगा दी है।

जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने आज 11.40 बजे अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग निर्माण खण्ड-2 का आकस्मिक निरीक्षण किया और उपस्थित रजिस्टर का अवलोकन किया। जिसमें से अनुपस्थित सुरेश चन्द्र सहायक अभियंता छुट्टी पर थे। जेई सुरेन्द्र कुमार को तिन्दवारी फील्ड कार्य में बताया गया। जेई के.के. चौधरी, जे.ई. राकेश कुमार, एई रामराजा और एई आर.के. वर्मा अनुपस्थित मिले तथा वरिष्ठ सहायक शैलेन्द्र कुमार 15 सितम्बर से 17 सितम्बर तक अनुपस्थित मिले। उनका अवकाश का कोई प्रार्थना पत्र भी नही मिला।

विमल कुमार वरिष्ठ सहायक अनुपस्थित मिले। इसके साथ ही अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग निर्माण खण्ड-2 भी अनुपस्थित मिले। जिलाधिकारी के द्वारा फोन कॉल किया गया और कार्यालय से भी फोन करवाया गया तो अधिशाषी अभियंता रामआसरे दोहरे द्वारा फोन नही उठाया गया और न ही कोई उत्तर दिया गया। निरीक्षण के दौरान उपरोक्त सभी के अनुपस्थित पाये जाने पर माह सितम्बर, 2021 का तत्काल प्रभाव से वेतन अग्रिम आदेशों तक जिलाधिकारी द्वारा रोका गया।

निरीक्षण के दौरान भ्रमण पंजिका भी नहीं बनायी गयी जो कि बहुत ही खेद जनक है और स्टाफ द्वारा गलत जानकारी दी गयी कि अधिशाषी अभियंता सहित अनुपस्थित जेई एवं एई निर्माण खण्ड-1 में चल रही विश्वकर्मा पूजा में हैं जब जिलाधिकारी द्वारा पूजा स्थल का भौतिक निरीक्षण किया जहां कोई भी उपस्थित नहीं पाया गया।

About Author

Sumit Upadhyay

You cannot copy content of this page